विज्ञापन

सूरदास कवि परिचय सबसे आसान भाषा में मध्य प्रदेश बोर्ड 2021,surdas ka kavi parichay hindi main

सूरदास कवि परिचय सबसे आसान भाषा में मध्य प्रदेश बोर्ड 2021,surdas ka kavi parichay hindi main

सूरदास कवि परिचय
सूरदास का जीवन परिचय, सूरदास कवि परिचय, सूरदास जी का जीवन परिचय, सूरदास जी कवि परिचय, सूरदास कवि परिचय सबसे आसान ,कवि सूरदास का जीवन परिचय, कवि सूरदास का जीवन परिचय दीजिए, मध्य प्रदेश बोर्ड सूरदास कवि परिचय, जीवन परिचय, सूरदास की जीवनी, सूरदास की रचनाएँ, हिंदी परीक्षा हेतु सूरदास कवि परिचय मध्य प्रदेश बोर्ड, सूरदास, सूरदास का जीवन परिचय इन हिंदी, सूरदास जी का जीवन परिचय कैसे याद करें, सूरदास का जीवन चरित्र, सूरदास इंटर,कक्षा 12 सूरदास, सूरदास जीवन परिचय सूरदास जी का जीवन परिचय
सूरदास कवि परिचय
surdas ka kavi parichay hindi main
1. सूरदास 
सूरदास का जीवन परिचय (surdas jeevan parichay) - सूरदास हिन्दी साहित्य के आकाश के सूर्य हैं, मध्यकालीन वैष्णव भक्त कवियों में सूरदास का स्थान श्रेष्ठ है। सूरदास ने भक्ति धारा को जनभापा के व्यापक घरातल पर रखकर संगीत और माधुर्य से मण्डित किया है। सूरदास का जन्म सन् 1478 ई. में आगरा के समीप रुनकता नामक गाँव में हुआ था कुछ विद्वान इनका जन्म दिल्ली के निकट सीही गाँव में मानते हैं। इनका जन्म निधन सारस्वत ब्राह्मण परिवार में और बाद हुआ था किशोरावस्था में ही ये मथुरा चले गये के बीच गऊ घाट पर रहने वृन्दावन लगे। एक बार बल्लभाचार्य गऊ घाट पर रुके। सूरदास ने उन्हें स्वरचित एक पद सुनाया। बल्लभाचार्य ने इन्हें अपना शिष्य बना लिया और कृष्ण लीला का गान करने की सलाह दी। ऐसी मान्यता है कि सूरदास जन्मान्ध थे, पर उनके मर्मस्पर्शी चित्रण को देखकर उनका जन्मान्ध होना असम्भव-सा प्रतीत होता है। द्वारा प्रतिपादित अष्टछाप' के कवियों मे मथुरा और बल्लभाचार्य सूरदास का नाम महत्त्वपूर्ण है। सूरदास का गोलोकवास गोवर्धन के पास 'पारसौली' नामग्राम में सन् 1583 ई. के लगभग माना जाता है।



सूरदास कवि परिचय सबसे आसान
surdas ka kavi parichay hindi main

प्रश्न . सूरदास का साहित्यिक परिचय निम्नाकित बिन्दुओं के आधार पर लिखिए-
(1) दो रचनाएँ,
(2) काव्यगत विशेषताएँ ( भावपक्ष एवं कलापक्ष),
(3) साहित्य में स्थान ।

सूरदास का कवि परिचय

>>(1) दो रचनाएँ,

1. सूरसागर-सूरसागर सूरदास का सर्वश्रेष्ठ और लोकप्रिय ग्रन्थ है। इसमें सूर ने सवा लाख पदों की रचना की है।

2. सूर सारावली-इस ग्रन्थ में ग्यारह सौ पद संग्रहीत हैं।
यह सूर सागर का सार रूप है।

3. साहित्य लहरी-साहित्य लहरी पद्य रस और अलंकारों
से परिपूर्ण है। इसमें एक सौ अठारह पद हैं।



>>(2) काव्यगत विशेषताएँ ( भावपक्ष एवं कलापक्ष),

(क) भावपक्ष (भाव तथा विचार)
(1) वक्तव्य वर्णन-सूरदास भाव जगत के अनुपम चितेरे
हैं। उन्होंने वात्सल्य रस के दोनों पक्षों-संयोग और वियोग का विस्तृत वर्णन किया है।

(2) शृंगार वर्णन - सूरदास ने श्रृंगार के संयोग और वियोग दोनों ही रूपों का व्यापक चित्रण अपने काव्य में किया है।

(3) भक्ति भावना-सूदास उच्च कोटि के भवत थे ।
उनकी भक्ति मूलतः सखा भाव की है ये सगुण ब्रह्म के उपासक थे। वे कृष्ण को आराध्य मानते हैं। उनके मन में श्रीकृष्ण के प्रति, अनन्य भाव है। जैसे-
"मेरौ मन अनत कहाँ सुख पावै ।
जैसे उड़ि जहाज को पंछी, उड़ि जहाज पै आवै ॥ "

(4) प्रकृति चित्रण-सूर ने प्रकृति का बड़ा मनोहारी वर्णन
किया है। कृष्ण के वियोग में गोपियों के साथ प्रकृति रोती है और संयोग में उनके साथ हँसती है।


>>(ख) कला पक्ष (भाषा तथा शैली)

(1) भाषा - सूरदास की भाषा सुललित, माधुर्यमयी ब्रजभाषा है, उनकी भाषा में सरलता, भावात्मक, गेयता और कोमलता के दर्शन सर्वत्र होते हैं। उसमें संस्कृत के तत्सम और तद्भव दोनों प्रकार के रूप मिलते हैं। भाषा में लोकोक्तियों और मुहावरों का सुन्दर प्रयोग किया गया है।

(2) शैली - सूरदास ने गेय पद शैली का प्रयोग किया है।
उनके पद पूर्ण भावुकता और संगीतात्मकता लिए हुए हैं।

(3) छन्द-सूरदास ने अपना सम्पूर्ण काव्य पदों में लिखा
है, उनके सभी पदों में राग-रागनियों का समावेश है।

(4) अलंकार-सूरदास के साहित्य में अलंकारों का
स्वाभाविक प्रयोग हुआ है। उपमा, उत्प्रेक्षा, रूपक, अनुप्रास आदि सभी अलंकार उनके काव्य में मिलते हैं।

>>(3) साहित्य में स्थान - सूरदास ने अपने साहित्य में वात्सल्य का कोई कोना अछूता नहीं छोड़ा है। उनके साहित्य में चिन्तन, दर्शन, भक्ति के साथ-साथ राग-रागनियों तथा काव्य लक्षणों का सफल वर्णन मिलता है। भाव सौन्दर्य की दृष्टि से सूरदास का स्थान सर्वोपरि है। इनका वात्सल्य वर्णन अद्वितीय है।

surdas ka kavi parichay hindi main

0 Response to "सूरदास कवि परिचय सबसे आसान भाषा में मध्य प्रदेश बोर्ड 2021,surdas ka kavi parichay hindi main"

टिप्पणी पोस्ट करें

Iklan Atas Artikel

adz

विज्ञापन