विज्ञापन

Hindi important questions class-9th mp board

Hindi important questions class-9th mp board

Hindi important questions class 9th mp board

Mp board Hindi imp questions class-9th and mp board 9th hindi solution
Mp board 9th class imp questions





2 अंक वाले महत्वपूर्ण प्रश्न

                पद्य खण्ड पर आधारित प्रश्नोत्तर 


                             1. भक्तिधारा


प्रश्न 1. रैदास की प्रभुभक्ति किस भाव की है ?
Answer is
उत्तर-रैदास की प्रभुभक्ति दास भाव की है।






प्रश्न 2. रैदास ने प्रभु से अपना सम्बन्ध किस रूप में निरूपित किया है ?

Answer is
उत्तर-रैदास ने प्रभु से अपना सम्बन्ध 'दास' रूप में (सेवक रूप में) निरूपित किया है।






प्रश्न 3. मीराबाई को कौन-सा रत्न प्राप्त हुआ था ?

Answer is
उत्तर-मीराबाई को 'राम नाप रूपी रतल्' प्राप्त हुआ था ।






प्रश्न 4. मीरा कहाँ चढ़कर प्रभु की बाट देख रही है ?

Answer is
उत्तर-मीरा महल पर चढ़कर प्रभु की बाट देख रही है।






प्रश्न 5. मीरा के नेत्र क्यों दुखने लगे हैं ?

Answer is
उत्तर-भगवान श्रीकृष्ण के दर्शनों के बिना मीरा के नेत्र दुखने लगे हैं।






प्रश्न 6. मीराबाई ने भक्ति से कौन-सा धन प्राप्त किया ? उस धन की क्या विशेषताएँ हैं ?

अथवा
मीरा के धन की विशेषताएँ लिखिए।
Answer is
उत्तर-मीरा ने भक्ति से'राम रतन' रूपी धन प्राप्त किया। उससे उसे गुरु की कृपा प्राप्त हुई और शिष्यत्व प्राप्त किया। जन्म-जन्मान्तर की पूँजी (ईश-भक्ति) प्राप्त कर ली। राम रतन धन कभी व्यय नहीं होता, इसे चोर चुरा भी नहीं सकता। साथ ही, यह निरन्तर सवाया होता जाता है।



गद्य खण्ड पर आधारित प्रश्नोत्तर -
                             1. व्याख्यान

प्रश्न 1. भारत में जन्म लेने पर विवेकाननद जी को क्यों अभिमान है ?

Answer is
उत्तर-भारत ने पृथ्वी के सभी धरमों के उत्पीड़ितों और शरणार्थियों को आश्रय देने का महान कार्य किया है। इसलिए विवेकानन्द को भारत में जन्म लेने पर अभिमान है।






प्रश्न 2. स्वामी जी ने शिकागो विश्व धर्म सम्मेलन में व्याख्यान के प्रारम्भ में किन शब्दों से श्रोताओं को सम्बोधित किया ?

Answer is
उत्तर-शिकागो विश्व धर्म सम्मेलन में स्वामी जो ने व्याख्यान के प्रारम्भ में श्रोताओं को' अमेरिकावासी बहनो तथा भाइयो' कहकर सम्योधित किया।






प्रश्न 3. शुद्धता, पवित्रता और दयाशीलता के विषय में स्वामी जी ने ब्या कहा है ?

Answer is
उत्तर-स्वामी जी ने कहा कि शुद्धता, पवित्रता और दयाशोलता किसी सम्प्रदाय विशेष की एकान्तिक सम्पत्ति नहीं है।






प्रश्न 4. पृथ्वी हिंसा से क्यों भरती जा रही है ? कोई दो कारण दीजिए।

Answer is
उत्तर-पृथ्वी को हिंसा से भरने के प्रमुख दो कारण साम्प्रदायिकता और हठधर्मिता हैं।





प्रश्न 5. स्वामी जी के अनुसार भारत के लोग दूसरे धमों को किस रूप में स्वीकार करते हैं ?

Answer is
उत्तर-भारत के लोग सभी धर्मों को सच्चा मानकर स्वीकार करते हैं।






प्रश्न 6. स्वामी जी के अनुसार शीघ्र ही प्रत्येक धर्म की पताका पर क्या लिखा मिलेगा ?

Answer is
उत्तर-स्वासी जी के अनुसार शोघ्र ही प्रत्येक धर्म की पताका पर 'सहायता करो, लड़ो मत'; 'पर भाव ग्रहण, न कि परभाव विनाश'; 'समन्वय और शान्ति, न कि मतभेद और कलह' लिखा मिलेगा।



सहायक वाचन

                    1. नया वर्ष नया विहान


प्रश्न 1. हमें निराश क्यों नहीं होना चाहिए ?

Answer is
उत्तर-हमें निराश तो किसी भी स्थिति में नहीं होना चाहिए। यह निराशा हमारे आत्मरूपी खेत में जमी हुई जगली घास है। जिस प्रकार जंगली घास खेत में अच्छे बीज के उगने में बाधक होती है, उसी तरह निराशा हदय में (मन में) अच्छे विचारों को उत्पन्न नहीं होने देती। निराशा एक ऐसा खरपतवार है, ( कूड़ा है) जिससे मनुष्य कायर बन जाता है, उसमें अवसाद पैदा होने लगता है (मानसिक कष्ट पैदा हो जाता है) । आशावादिता वह सौन्दर्य है जिससे पवित्रता उत्पन्न होती है, जो हमारे विचारों को शुद्धता प्रदान करती है।

सौन्दर्य की रक्षा पवित्रता से होती है। एक आशावादी व्यक्ति अच्छी तरह जानता है कि कष्ट की अँधेरी रात्रि के समाप्त होते ही सुखमय प्रात: आता है। अर्थात् दुःख के झीने पर्दे से शुभ सुख की झाँकी होती है। अत: निराशा के अन्धकार से आशावादी उजाले की ओर हमें प्रस्थान करना चाहिए।





प्रश्न 2. हमारे देश में प्रमुख रूप से कौन-से सन्-संवत् प्रचलित हैं ?

Answer is
उत्तर-हमारे देश में प्रमुख रूप से 'ईस्वी सन् और विक्रम संवत्' प्रचलित हैं ।






प्रश्न 3. सौर पंचांग किसे कहते हैं ?

Answer is
उत्तर-पृथ्वी को सूर्य के चक्कर लगाने में 365 दिन का समय लगता है। इसी के आधार पर वनाई गई तिथियों आदि के क्रमवार विवरण को हम सौर पंचांग कहते हैं।






प्रश्न 4. संकल्प से होने वाले लाभों के बारे में बताइए।

Answer is
उत्तर-संकल्प मन की दृढ़ इच्छाशक्ति है जिसके द्वारा मनुष्य आने वाले समय में आनन्द की प्राप्ति करता है। इसके द्वारा मनुष्य अपने अभिलाषित उद्देश्य को प्राप्त करने में सफल होता है। संकल्प से व्यक्ति में आत्मवल विकसित होता है। शारीरिक और मानसिक क्षमताओं में विश्वास करना ही संकल्प है। संकल्प से हमारे शारीर में आरोग्य की बृद्धि होती है।




एकांकी संकलन

                          1. दीपदान
प्रश्न 1. पन्ना कौन थी ?

Answer is
उत्तर-पन्ना चित्तौड़ के राजसिंहासन के उत्तराधिकारी कुँवर उदयसिंह की धाय थी।






प्रश्न 2. चित्तौड़ में दीपदान का उत्सव क्यों मनाया जा रहा है ?

Answer is
उत्तर - चित्तौड़ में दीपदान का उत्सव दासी-पुत्र बनवीर की आज्ञानुसार मनाया जा रहा है।







0 Response to "Hindi important questions class-9th mp board "

टिप्पणी पोस्ट करें

Iklan Atas Artikel

adz

विज्ञापन