विज्ञापन

 कक्षा 11 वीं   रसायन विज्ञान(Class 11th chemistery)


 महत्वपूर्ण प्रश्नों का संग्रह ( notes 

               अध्याय - 1

रसायन विज्ञान की कुछ मूल अवधारणाएँ

[Some Basic Concepts of Chemistry]

वस्तुनिष्ठ प्रश्न 

 बहु-विकल्पीय प्रश्न

1. जल का मोलर द्रव्यमान है-

(i) 14
(ii)18
(iii) 44
(iv) 10.

 2. एक कार्बनिक यौगिक का मूलानुपाती सूत्र CH; है। यौगिक के एक मोल का द्रव्यमान 42 ग्राम है। इसका आण्विक सूत्र है- 
(i) CH₂
(ii) C₃H₆
(iii) C₂H₂
(iv) C3H8.

3. शुद्ध जल की मोलरता है-
(i) 18
(ii) 50
(iii) 55.6
(iv) 100.

4. 80-25 ग्राम सल्फर में ग्राम परमाणुओं की संख्या (S =32) है-
(i)2.5
(ii) 32
(iii) 5
(iv) 10.


5. 16 ग्राम ऑक्सीजन गैस में अणुओं की संख्या है-
(i) 6.022 x 10²³
(ii) 3.011 x 10²³
(iii) 12.044 x 10²³
(iv) 1.55 x 10²³

6. मोल का आंकिक मान है-
(i) 600.02 x 10²³
(ii) 60.02 x 10²⁰
(iii) 6.023 x 10²³
(iv) 6.023 x 10²¹.


उत्तर -
1. (ii)18,
2. (ii) C₃H₆,
3. (iii) 55.6,
4. (i)2.5,
5. (ii) 3.011 x 10²³,
6. (iii) 6.023 x 10²³.


रिक्त स्थानों की पूर्ति



1. एक मोल ऑक्सीजन गैस में अणुओं की संख्या...............है।

2. रसायन विज्ञान का जनक...............को कहा जाता है।

3. शुद्ध जल की मोलरता.................होती है।

4. किसी गैस के एक ग्राम मोल में अणुओं की वास्तविक संख्या..................होती है।

5. 1000 ग्राम विलायक में उपस्थित विलेय के मोलों की संख्या................. कहलाती है।

6. रासायनिक यौगिक में उसके अवयवी तत्वों की मात्राओं का अनुपात सदैव................रहता है।

7. 1 dm³..............cm²के बराबर है।

8.  .....................ताप जो सेल्सियस एवं फेरनहाइट स्केल में समान होता है।

उत्तर-1.602x 10²³,
2. लेवाजिए,
3.55.55, 4. 6.022 x 10²³,
5. मोललता.
6. स्थिर,
7. 1000,
8.-40°C.

सत्य/असत्य


1. 1 =6-023 x 10²³ amu. [..................]2. अणु, पदार्थ का वह सूक्ष्मतम कण है जो स्वतन्त्र अवस्था में रह सकता है।  [..................]3. रासायनिक समीकरण में रासायनिक सूत्रों की सहायता से रासायनिक परिवर्तन दशाया जाता है।  [..................]4. रासायनिक अणुसूत्र %= (मूलानुपाती सूत्र)/n   [..................]5. 100 ग्राम विलयन में उपस्थित विलेय की ग्राम में मात्रा मोलरता कहलाती है। [..................]6. फॉस्फोरस की सूक्ष्मतम इकाई P4 है। [..................]

उत्तर-1. असत्य,
2. सत्य,
3. सत्य,
4. असत्य,
5. असत्य,
6. सत्य।


जोड़ी मिलाइए


1. NTP पर गैस के 1 मोल        (i) मूलानुपाती सूत्र x n
अणुओं का आयतन

2. आण्विक सूत्र                       (ii) मोललता

3. विलायक के 1 किलो             (iii) लेवाजिए
 में विलेय के मोलों की संख्या

4. एक ही प्रकार के                   (iv) 22-4 लिटर
परमाणुओं से बना पदार्थ

5. आधुनिक रसायन विज्ञान       (v) तत्व
का जन्मदाता

-1.→ (iv) 22-4 लिटर,
2. → (i) मूलानुपाती सूत्र x n,
3. → (ii) मोललता,
4. → (v) तत्व,
5. → (iii) लेवाजिए.

एक शब्द/वाक्य में उत्तर


1. रासायनिक सूत्र, जो यौगिक में उपस्थित परमाणु तथा उनकी संख्या दर्शाता है, उसे क्या कहते हैं ?

2. यौगिक की परिभाषा लिखिए।

3. गुणित अनुपात का नियम देने वाले वैज्ञानिक का नाम लिखिए।

4. नियम 'समान ताप तथा दाब पर समस्त गैसों के समान आयतन में अणुओं की संख्या समान होती है' किसने प्रतिपादित किया था ?

5. एक मोल की परिभाषा दीजिए ।

6. 4 मोल CH₄ का भार लिखिए।

उत्तर-1. अणुसूत्र,
2. विभिन्न तत्वों के निश्चित अनुपात रखने वाला पदार्थ,
 3. डाल्टन,
4. आवोगाद्रो,
5. कार्बन- 12 के एक ग्राम परमाणु में उपस्थित परमाणुओं की संख्या को एक मोल कहते हैं,
 6. 64 ग्राम।


लघु उत्तरीय प्रश्न

( परीक्षा की दृष्टि से संभावित आने योग्य प्रश्न )

प्रश्न 1. रासायनिक संयोग के नियमों के नाम लिखिए
उत्तर-(1) द्रव्य के संरक्षण का नियम,
(2) गुणित अनुपात का नियम,
(3) आवोगाद्रो का नियम,
(4) स्थिर अनुपात का नियम,
(5) गे-लूसैक का निमय।

प्रश्न 2. आवोगाद्रो नियम क्या है ?
उत्तर-आवोगाद्रो के नियम के अनुसार, समान ताप व दाब पर सभी गैसों के समान आयतन में अणुओं की संख्या समान होती है। इस नियम के द्वारा N.T.P. पर गैसों के 22:4
लीटर में अणुओं की संख्या व ग्राम अणुभार में अणुओं की संख्या ज्ञात की गयी थी।

प्रश्न 3. मोल संकल्पना क्या है ? या मोल क्या है ?
उत्तर-मोल एक संख्या है जिसका मान 6.022 x 10²³ होता है। यह सूक्ष्म कणों; जैसे- परमाणु, अणु, आयन आदि की संख्या को प्रदर्शित करने की एक इकाई है।

प्रश्न 4. परमाणु और अणु में अन्तर स्पष्ट कीजिए।
उत्तर-





प्रश्न 5. डाल्टन के परमाणु सिद्धान्त की प्रमुख अवधारणाएँ लिखिए।
उत्तर-डाल्टन के परमाणु सिद्धान्त की प्रमुख अवधारणाएँ निम्न हैं -
(1) प्रत्येक द्रव्य अत्यन्त छोटे कणों से मिलकर बना है, जिन्हें परमाणु कहते हैं ।
(2) परमाणु अविभाज्य है।
(3) एक ही तत्व के सभी परमाणु आकार, भार तथा अन्य गुणों में समान होते हैं, परन्तु दूसरे तत्व के परमाणुओं से भिन्न होते हैं।
(4) परमाणु छोटी-छोटी पूर्ण संख्याओं में संयुक्त होते हैं और यौगिक परमाणु बनाते हैं।
(5) परमाणु न तो बनाये जा सकते हैं और न ही नष्ट किये जा सकते हैं।

प्रश्न 6. द्रव्य के संरक्षण का नियम लिखिए ।
- "किसी भी रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेने वाले पदार्थों की मात्राओं का योग, रासायनिक क्रिया से बने पदार्थों की मात्रा के योग के बराबर होता है अर्थात् रासायनिक
क्रिया में द्रव्य को न तो नष्ट किया जा सकता है और न ही उत्पन्न किया जा सकता है।" इसे द्रव्य के संरक्षण का नियम कहते हैं।
उदाहरण-12 gm कार्बन 32 gm ऑक्सीजन से संयोग कर 44 gm कार्बन डाइऑक्साइड बनाता है, जो द्रव्य के संरक्षण के नियम की पुष्टि करता है।

प्रश्न 7. स्थिर अनुपात का नियम उदाहरण देकर स्पष्ट कीजिए।
उत्तर-नियम-प्रत्येक रासायनिक यौगिक में उसके अवयवी तत्व भारानुसार सदैव एक निश्चित अनुपात में पाये जाते हैं, चाहे वह यौगिक किसी विधि से प्राप्त किया गया हो।
यह नियम जोसेफ लुई प्राउस्ट ने प्रतिपादित किया।
उदाहरण-कार्बन डाइऑक्साइड को अनेक विधियों से प्राप्त किया जा सकता है। जैसे-
(A) कार्बन को वायु में जलाकर
                     C + O₂ → CO₂
(B) सोडियम कार्बोनेट पर तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल की क्रिया से-
Na₂CO₃ + 2HCI→2NaCl + H₂O + CO₂↑

(C) कैल्सियम कार्बोनेट को गर्म करके -
CaCO₃ → Cao + CO₂ ↑

प्रत्येक विधि से प्राप्त कार्बन डाइऑक्साइड का विश्लेषण करने पर ज्ञात होता है कि इसमें कार्बन और ऑक्सीजन भार की दृष्टिट से सदैव 12 : 32 के अनुपात में संयुक्त रहते हैं ।

प्रश्न 8. गुणित अनुपात का नियम लिखिए। नाइट्रोजन के ऑक्साइडों का उदाहरण देकर समझाइए।
अथवा
गुणित अनुपात के नियम की उदाहरण सहित व्याख्या कीजिए ।
उत्तर-गुणित अनुपात के नियम का प्रतिपादन जॉन डाल्टन ने सन् 1803 में किया था। "जब दो तत्व आपस में संयोग करके दो या दो से अधिक यौगिक बनाते हैं, तब एक तत्व
के विभिन्न द्रव्यमान जो दूसरे तत्व के निश्चित द्रव्यमान से संयोग करते हैं, परस्पर एक सरल (पूर्णांक) गुणित अनुपात में होते हैं।"

प्रश्न 9. गे-लुसैक का नियम उदाहरण सहित समझाइए।
उत्तर-गे-लुसैक का नियम-जब गैसें आपस में संयोग करती हैं, तो उनके आयतनों में सरल अनुपात होता है और यदि उनके संयोग से बना हुआ पदार्थ भी गैस हो, तो उसका
आयतन भी क्रियाकारी गैसों के आयतन के सरल अनुपात में होगा, जबकि सभी आयतन एक ही ताप व दाब पर नापे जायें।

उदाहरण-हाइड्रोजन का एक आयतन, क्लोरीन के एक आयतन से संयोग करके दो आयतन हाइड्रोजन क्लोराइड गैस बनाता है :

Н₂ + CI₂ → 2HCl

अत: हाइड्रोजन, क्लोरीन व हाइड्रोजन क्लोराइड गैस के आयतनों में 1 : 1 : 2 का अनुपात हुआ जो कि सरल अनुपात है और नियमानुसार है।

0 Response to " "

टिप्पणी पोस्ट करें

Iklan Atas Artikel

adz

विज्ञापन